For the best experience use inshorts app on your smartphone
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि 224-383 ई. में बख्शाली पांडुलिपि में लिखी गई प्राचीन भारतीय पाठ्यसामग्री शून्य के अस्तित्व का सबसे पुराना साक्ष्य है। वैज्ञानिकों का कहना है कि दस्तावेज़ में शून्य को अंक के बजाय एक डॉट सिंबल के तौर पर दर्शाया गया है जिसने बाद में अपना मौजूदा रूप हासिल कर लिया।
short by आशुतोष त्रिपाठी / 10:07 pm on 14 Sep
For the best experience use inshorts app on your smartphone